*गुजर रही है ये जिंदगी बड़े ही नाज़ुक दौर से ..* 
*मिलती नहीं तसल्ली तेरे सिवा किसी और से..*